India Today Media Institute

 ज़िन्दगी मिलेगी दोबारा फाउंडेशन

क्या लेकर आये थे,क्या लेकर जाओगे।

 मुट्ठी बंद कर आये थे,खोल कर जाओगे।।