India Today Media Institute

सत्ता का नशा या विचारधारा के प्रति निष्ठा

नये दौर की राजनीति में अपनी ताक़त दिखाने के लिए आये दिन राजनीतिक दलों के कार्यकर्ताओं द्वारा नए-नए तरीक़े देखने को मिलते हैं। सत्ता के नशे में चूर ये कार्यकर्ता शायद नए-नए पैंतरों से पार्टी विचारधारा के प्रति अपनी निष्ठा ज़ाहिर करने की कोशिश करते हैं ।
हाल ही में मुद्दा सामने आया है मूर्तियाँ तोड़ने का, जिसमें अपनी पार्टी, धर्म व समाज के विपरीत विचारधारा वाले महानुभावों की मूर्ति को ध्वस्त किया जा रहा है ।

India Today Media Institute

आमदनी अठन्नी और भ्रष्टाचार!

आज के समय की अगर हम बात करे तो भ्रष्टाचार जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में फैल चुका है। इसका क्षेत्र, समाज में इस तरह फैलता जा रहा है कि इससे बच पाने की दूर -दूर तक कोई गुंजाइश नही दिख रही है। भ्रष्टाचार से  समाज के नैतिक मूल्य भी नष्ट हो गयें हैं ।