India Today Media Institute

सत्ता का नशा या विचारधारा के प्रति निष्ठा

नये दौर की राजनीति में अपनी ताक़त दिखाने के लिए आये दिन राजनीतिक दलों के कार्यकर्ताओं द्वारा नए-नए तरीक़े देखने को मिलते हैं। सत्ता के नशे में चूर ये कार्यकर्ता शायद नए-नए पैंतरों से पार्टी विचारधारा के प्रति अपनी निष्ठा ज़ाहिर करने की कोशिश करते हैं ।
हाल ही में मुद्दा सामने आया है मूर्तियाँ तोड़ने का, जिसमें अपनी पार्टी, धर्म व समाज के विपरीत विचारधारा वाले महानुभावों की मूर्ति को ध्वस्त किया जा रहा है ।